Activities


सेवा कार्यों का विस्तार
विगत पाँच वर्षों से सेवा समिति अपनी दो बहुप्रतीक्षित सेवाओं का संचालन कर रही है, पहली नि:शुल्क शव वाहन सेवा जो कि पंचपुरी हरिद्वार में कहीं भी उपलब्धता के आधार पर सेवार्थ प्रस्तुत है और दूसरी एम्बुलैन्स सेवा जिसे कि बिना हानि लाभ के जन-सेवार्थ चलाया जा रहा है। दोनों प्रकार की सेवाओं के लिए कार्यालय से सम्पर्क करें।
 

सेवा समिति हरिद्वार द्वारा सेवा कार्यों का विवरण (11 मार्च 2012 से 10 मार्च 2013 तक )

धर्मार्थ औषधालय -
17058 रोगियों की सेवा समिति धर्मार्थ औषधालयों द्वारा नि:शुल्क चिकित्सा की गयी जिसका विवरण निम्न प्रकार है-
प्रधान औषधालय सुभषाघाट से 10,020 रोगियों की चिकित्सा की गयी।
शाखा औषधालय खन्ना धर्मशाला रेलवे रोड़ से 1928 रोगियों की चिकित्सा की गयी।
शाखा औषधालय ललताराव पुल से 5110 रोगियों की चिकित्सा की गयी।

लावारिस मृतकों का दाह संस्कार -
520 लावारिस मृतक जो कि जिला हरिद्वार के पुलिस थानों से सम्बन्धित थे उन्हें हरिद्वार के विभिन्न स्थानों से उठाकर स्ट्रेचर द्वारा शमशान घाट पहुँचाया गया था लकड़ी कफन देकर दाह संस्कार किया गया।

आपत्तिकाल सहायता -
मृतकों के असहाय वारिसों को स्ट्रेचर सहायता -
178 ऐसे मृतक शरीरों के दाह संस्कार में उनके वारिसों को स्ट्रेचर तथा स्वयं सेवकों की सहायता दी जिनके पास उन मृतक शरीरों को शमशान घाट तक पहुँचाने का कोई प्रबन्ध नहीं था।
46 वारिसों वाले मृतकों के दाह संस्कार के लिए लकड़ी की सहायता दी गयी।

भोजन सहायता -
865 ऐसे असहाय व्यक्ति जो जेब कट जाने, धनराशि खो जाने आदि कारणों से नुकसान हो जाने पर भोजन आदि की व्यवस्था में असमर्थ थे उन्हें भोजन की सहायता दी।

तार एवं टेलीफोन सहायता -
46 ऐसे असहाय व्यक्ति जो अपने परिवारजनों से सम्पर्क करना चाहते थ टेलीफोन, तार एवं अन्य प्रकार की सहायता दी गयी।

खोज सहायता -
2400 ऐसे स्त्री, बच्चे व वृद्ध पुरूष जो कि मेला आदि भीड़ के अवसरों पर अपने परिवार वालों से बिछुड़ गये थे, उन्हें तलाश करके उनके वारिसों को सौंपा गया।

मेला प्रबन्ध -
हरिद्वार में लगने वाले विभिन्न मेले-जैसे वैशाखी, गंगा दशहरा, सोमवती अमावस्या आदि के अवसरों पर समिति के स्वयं सेवकों ने व्यवस्था बनाने में स्थानीय प्रशासन को पूर्ण सहयोग दिया तथा लाउडस्पीकरों द्वारा अपने सम्बन्धियों से बिछुड़े हुए यात्रियों को मिलाने में सहायता दी। समिति द्वारा चण्डी मेला प्रबन्ध जो कि वार् में दो बार लगता है का भी पूर्ण प्रबन्ध किया जाता हैं

प्याऊ व्यवस्था -
गर्मियों में मौसम में समिति द्वारा हरिद्वार के विभिन्न प्रमुख स्थानों पर प्याऊ ठेलियों द्वारा स्थानीय व्यक्तियों तथा यात्रियों के लिए ठण्डें जल की व्यवस्था की जाती है।
 
इस वार् 2 प्याऊ चलाने का खर्च श्री म0 हार्वर्ध्न सिंह जी, निवासी ज्ञान निकेतन, सुभाष घाट, हरिद्वार ने अपने पिता स्व0 श्री मा0 त्रिलोक सिंह जी एवं बहन श्रीमती पूनम जी की याद में दिया।

वाचनालय -
समिति के वाचनालय में स्थानीय एवं राट्रीय स्तर के समाचार पत्रों की व्यवस्था रहती है जिसमें हरिद्वार में आने वाले तीर्थ यात्री तथा स्थानीय व्यक्ति पढ़ने का लाभ उठाते है।

टाल लकड़ी शमशान घाट -
स्मिति के अधिकारियों के सुप्रबन्ध से टाल शमशान घाट सुचारू रूप से चल रहा है। निर्धन, असहाय तथा लावारिस मृतकों को मुफ्त लकड़ी, कफन देने का पूर्ण प्रबन्ध है। इस विभाग का मुख्य कार्य अनाथ, असहाय तथा लावारिस मृतकों का दाह संस्कार करना तथा वारिस वाले मृतकों के दाह संस्कार में सहायता पहुँचाना है।

हरिद्वार शमशान घाट पर हरिद्वार ही नहीं अन्य आसपास के बड़े नगरों से भी शव आते रहते है। उन्हें उनकी आवयकता के अनुसार दाह संस्कार में सहायता दी जाती है।

मानव सेवा ही जीवन में सर्वोंपरि कर्तव्य है। इसलिये तन, मन, धन से सेवा समिति हरिद्वार के साथ सहयोग करें।

नोट:- 1- हरिद्वार पंचपुरी में मरने वाले लावारिस मृतकों का दाह संस्कार केवल सेवा समिति हरिद्वार ही करती है। अन्य कोई संस्था नहीं करती है।

2- सेवा समिति हरिद्वार के नाम से अन्य संस्थायें भी चन्दा एकत्रित करती हैं ऐसी संस्थाओं के व्यक्तियों से सावधान रहे |


मंत्री
सेवा समिति (रजि0) हरिद्वार

Sewa Samiti

Home | About Sewa Samity | Bhawan / Dharmshala | Organizing Committee | Activities | Donation
Online Enquiry | Respected Ex Members | School | Contact Us